logo

  • 15
    12:34 pm
  • 12:34 pm
logo Media 24X7 News
news-details
क्राइम

कश्मीर में टारगेटेड किलिंग का तीसरा मामला, आतंकियों ने पुलिसकर्मी की हत्या की

जम्मू-कश्मीर में टारगेट किलिंग का एक और मामला सामने आया है. मिल रही जानकारी के अनुसार आतंकियों ने इस बार जम्मू-कश्मीर पुलिस के कांस्टेबल को अपना निशाना बनाया है. पुलिस के अनुसार आतंकियों ने कांस्टेबल गुलाम मोहम्मद दर पर उनके घर में घुसकर हमला किया है. घटना कश्मीर कारलपोरा गांव की है. कांस्टेबल को घायल हालत में पास के अस्पताल लेकर जाया गया, जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद बताया कि उनकी मौत हो चुकी है. 

 

इस घटना को लेकर कश्मीर पुलिस ने एक बयान जारी किया है. इस बयान में कहा गया है कि घायल पुलिस कर्मियों ने दम तोड़ दिया और वीरगति को प्राप्त हुए. हम शहीद को अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं और इस महत्वपूर्ण समय में उनके परिवार के साथ खड़े हैं. इलाके की घेराबंदी कर दी गई है. आतंकियों का पता लगाने के लिए फिलहाल सर्च ऑपरेशन जारी है. 

 

पुलिस अधिकारी ने बताया कि पूरे इलाके की घेराबंदी कर ली गई है. सभी संभावित जगहों सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है. बता दें कि इससे पहले पुलवामा में एक प्रवासी मजदूर की भी टारगेटेड किलिंग के तहत हत्या कर दी गई थी. इससे पहले बीते रविवार को श्रीनगर में एक पुलिस इंस्पेक्टर को गोली मारकर घायल कर दिया गया था. मसरूर अहमद वानी को रविवार को ईदगाह इलाके में क्रिकेट खेलते समय तीन गोलियां मारी गईं थी. 

हमलों के बाद सुरक्षा बलों ने पुलवामा और जम्मू-कश्मीर के अन्य हिस्सों में वाहनों और पैदल चलने वालों की जांच तेज कर दी है. श्रीनगर के सभी प्रमुख चौराहों के साथ-साथ शहर के निकास बिंदुओं पर मोबाइल वाहन चौकियां स्थापित की गई हैं.

 

फरवरी 2021 में भारत और पाकिस्तान के बीच संघर्ष विराम समझौते के बाद पिछले हफ्ते केंद्र शासित प्रदेश में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सबसे बड़ा संघर्ष विराम उल्लंघन देखा गया. गुरुवार को सीमा पर अरनिया सेक्टर में अकारण गोलीबारी और मोर्टार गोलाबारी में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) का एक जवान घायल हो गया. रिहायशी इलाकों में मोर्टार गोले गिरने के बाद दर्जनों ग्रामीण अपने घर छोड़कर भाग गए हैं.

 

You can share this post!

Comments

Leave Comments