logo

  • 09
    01:17 am
  • 01:17 am
logo Media 24X7 News
news-details
भारत

किसान आंदोलन पर ISI की बुरी नजर, हिंसा फैलाने की साजिश...खुफिया एजेंसियों का अलर्ट, कई मेट्रो स्टेशन बंद

आज यानी 26 जून को होने वाले किसानों के प्रदर्शन में जहर घोलने की पाकिस्तानी आईएसआई ने बड़ी साजिश रची है। दिल्ली में किसानों के प्रदर्शन के दौरान लोगों को भड़काने और हिंसा फैलाने के लिए आईएसआई ने बड़ी साजिश रची है और अपने नुमाइंदों को भी तैयार कर रखा है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, खुफिया एजेंसियों ने शुक्रवार देर शाम में दिल्ली पुलिस और अन्य एजेंसियों को अलर्ट कर दिया कि पाकिस्तान स्थित आईएसआई के नुमाइंदे प्रस्तावित किसानों के विरोध प्रदर्शन को नुकसान पहुंचा सकते हैं और सुरक्षाबलों को भड़काने की साजिश में हैं।

 

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, खुफिया एजेंसियों ने दिल्ली पुलिस और केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) को सचेत किया है कि पाकिस्तान स्थित इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) के एजेंट आज यानी 26 जून को दिल्ली में प्रस्तावित किसानों के प्रदर्शन के दौरान तैनात सुरक्षा को उकसा कर हिंसा फैला सकते हैं। 

बताया जा रहा है कि दिल्ली पुलिस और अन्य संबंधित एजेंसियों को एक पत्र भेजा गया है। पत्र मिलने के बाद दिल्ली पुलिस की ओर से पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। सूत्रों ने कहा कि सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं और कुछ मेट्रो स्टेशन भी शनिवार को कुछ घंटों के लिए बंद रहेंगे। पत्र में उल्लेख किया गया है कि समर्पित और पर्याप्त संख्या में जवानों की मेट्रो स्टेशनों के बाहर तैनात की जाएगी।

 

एहतियात के तौर पर और कानून-व्यवस्था की स्थिति में किसी भी तरह की गड़बड़ी से बचने के लिए दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने शनिवार को सुबह 10:00 बजे से दोपहर 2:00 बजे तक तीन मेट्रो स्टेशनों- विश्वविद्यालय, सिविल लाइंस और विधानसभा को बंद रखने का फैसला किया है। दिल्ली पुलिस की सलाह पर यह कदम उठाया गया है, जिसने सुरक्षा के भी व्यापक इंतजाम किए हैं।

बता दें कि आज यानी शनिवार को दिल्ली के सीमावर्ती इलाकों में प्रदर्शन कर रहे किसानों के साथ कई किसान समूहों के भी शामिल होने की उम्मीद है। इस बीच केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने शुक्रवार को किसान संघों से केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ अपना आंदोलन समाप्त करने का आग्रह किया। भोपाल में मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए तोमर ने शुक्रवार को कहा कि मैं सभी किसान संघों से आंदोलन समाप्त करने का आग्रह करता हूं। सरकार ने उनके साथ 11 दौर की बातचीत की थी।

 

 

दरअसल, आज किसानों के आंदोलन को सात महीने पूरे हो जाएंगे। किसानों ने 26 जून को किसान आंदोलन के सात महीने पूरे होने पर किसानों की व्यापक रैली और प्रदर्शन की तैयारी की है। इस दौरान बीकेयू नेता राकेश टिकैत रिहर्सल में हिस्सा लेते दिखे। दिल्ली और हरियाणा के बीच सिंघू बॉर्डर के अलावा टीकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर भी किसान आंदोलन कर रहे हैं। राष्ट्रीय राजधानी में भी शनिवार को विरोध प्रदर्शन हो सकता है इसलिए दिल्ली मेट्रो रेल निगम और पुलिस ने एहतियात के तौर पर सुरक्षा कदम उठाए हैं। 

You can share this post!

Comments

Leave Comments