logo

  • 20
    11:08 am
  • 11:08 am
logo Media 24X7 News
news-details
हेल्थ

किडनी को हेल्दी बनाते हैं ये 7 इंडियन फूड्स, डेली खाने से मिलेगा जबरदस्त फायदा, ये रही लिस्ट

हेल्दी फूड और हेल्दी लाइफ साथ-साथ चलते हैं. वजन, ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल, हार्ट और आंत सहित ऑलओवर हेल्थ पर हमारे खानपान का असर पड़ता है. हम अक्सर एक और जरूरी अंग अपनी किडनी की देखभाल करने में चूक जाते हैं. एक हेल्दी किडनी शरीर में लिक्विड का बैलेंस बनाए रखने में मदद करती है और टॉक्सिन्स को बाहर निकालने में मदद करती है. इस प्रक्रिया को तेज करने में आपका डाइट बड़ी भूमिका निभाती है. कन्सल्टेंट न्यूट्रिशनिष्ट रूपाली दत्ता के अनुसार, "घाव भरने, इंफेक्शन को रोकने और इलेक्ट्रोलाइट बैलेंस बनाए रखने के लिए अच्छा पोषण जरूरी है, ये सभी किडनी हेल्थ को बढ़ावा देने में मदद करते हैं"

 

अब अगर आप सोच रहे हैं कि किडनी फ्रेंडली डाइट क्या है? तो आपको बता दें किडनी-फ्रेंडली डाइट जो फलों, सब्जियों, साबुत अनाज, लो फैट वाले डेयरी और लीन मीट को डाइट में शामिल करने और सोडियम, कोलेस्ट्रॉल और फैट के सेवन को कम करने की सलाह दी जाती है. यहां हमने ऐसे फूड्स की लिस्ट तैयार की है जिन्हें किडनी को हेल्दी और मजबूत रखने के लिए डाइट में शामिल करना चाहिए.

 

दाल का हर भारतीय घर में सेवन किया जाता है. आपको अलग-अलग दाल के व्यंजन मिलेंगे, लेकिन जो बात सभी में समान है वह है उनका न्यूट्रिशनल वैल्यू. दालें फाइबर का एक बेहतरीन स्रोत हैं, जो उन्हें आसानी से पचने योग्य और किडनी के लिए भी हेल्दी बनाती हैं.

ये पेट के लिए हल्का होता है और लंबे समय तक हमारा पेट भरा रखता है. साथ ही ये आपकी सेहत के लिए भी अच्छा है. आमतौर पर, खिचड़ी रेसिपी में दाल और चावल शामिल होते हैं. दोनों में पोटेशियम और फास्फोरस कम होता है और किडनी के लिए अच्छा माना जाता है.

परांठा बनाते समय आपको बस इस बात का ध्यान रखना है कि तेल या घी का इस्तेमाल हो. शरीर में यूरिया के बढ़ते लेवल से बचने के लिए कम तेल या घी का सेवन करने की कोशिश करें जो आपकी किडनी को और प्रभावित कर सकता है.

 

डोसा आमतौर पर दाल, चावल, सूजी और साबुत अनाज जैसे रागी, बाजरा आदि से तैयार किया जाता है. ये सभी लो सोडियम, पोटेशियम और फास्फोरस के कारण आपकी किडनी के लिए अच्छे माने जाते हैं.

डोसा की तरह इडली भी किडनी फ्रेंडली डाइट के लिए एक बढ़िया ऑप्शन है. आप इसे पौष्टिक सांभर दाल या नारियल की चटनी के साथ मिलाकर एक पौष्टिक विकल्प बना सकते हैं.

 

उपमा आमतौर पर रवा से बनाया जाता है. इसमें पोटेशियम और कार्ब्स कम होते हैं और फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है. आप इसे कम तेल में बनाकर किडनी की समस्या वाले लोगों की डाइट में शामिल कर सकते हैं.

 

सबसे हेल्दी सब्जियों में से एक मानी जाने वाली भिंडी में अच्छी मात्रा में फाइबर और विटामिन होते हैं और इनमें पोटेशियम, फास्फोरस, सोडियम और कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है. आप किडनी के अच्छे स्वास्थ्य के लिए एक साधारण भिंडी की सब्जी तैयार कर सकते हैं.

 

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

 

You can share this post!

Comments

Leave Comments