logo

  • 13
    05:31 pm
  • 05:31 pm
logo Media 24X7 News
news-details
भारत

ड्रैगन की जी हुजूरी भी न आई काम, पाक को चीन ने दिखाई औकात, कहा- पहले मुआवजा दो फिर दासू डैम पर होगा काम

पाकिस्तान के सदाबहार दोस्त चीन ने दासू डैम प्रोजेक्ट में मारे गए चीनी इंजिनियरों के लिए पाकिस्तान से 285 करोड़ रुपये के मुआवजे की मांग की है। पाकिस्तानी अखबार बिजनेस रिकॉर्डर की एक रिपोर्ट मुताबिक चीन चाहता है कि रुके हुए प्रोजेक्ट पर फिर से काम शुरू करने से पहले मुआवजा दिया जाए। बता दें कि 14 जुलाई 2021 को 9 चीनी इंजीनियर, दो स्थानीय लोग और फ्रंटियर कांस्टेबुलरी के दो कर्मी एक हमले में मारे गए थे। इस हमले में दो दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए थे। विस्फोटक से लदी हुई कार ने प्रोजेक्ट पर जा रही टीम की बस को टक्कर मार दी थी जिसके बाद बस खाई में गिर गई थी।

 

बिजनेस रिकॉर्डर की रिपोर्ट मुताबिक जल संसाधन सचिव शाहजेब खान बंगश के मुताबिक जुलाई में चीनी इंजिनियरों पर हमले के बाद से प्रोजेक्ट में सिविल काम ठप है। रिपोर्ट्स के मुताबिक चीनी नागरिकों को मुआवजा के मसले पर हाई लेवल पर बातचीत हो रही है।

विदेश मंत्रालय, वित्त मंत्रालय, गृह मंत्रालय और जल संसाधन मंत्रालय और चीनी दूतावास मुआवाजे के पैकेज के साथ-साथ प्रोजेक्ट पर फिर से काम करने को लेकर बातचीत कर रहे हैं। अखबार ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि संबंधित मंत्रालयों ने मामले को लेकर एक कमिटी का गठन किया था जिसने दासू प्रोजेक्ट से जुड़े मुआवजे को लेकर विचार-विमर्श किया है। कमिटी ने एक उप कमिटी का गठन किया है जिसमें सभी मंत्रालय के सीनियर अधिकारी शामिल हैं जो चीनी दूतावास से मुआवाजे पैकेज को लेकर बातचीत करेंगे। जल संसाधन सचिव को उम्मीद है कि मसले को एक-दो हफ्ते में सुलझा लिया जाएगा और जल्द ही साइट पर फिर से सिविल वर्क शुरू हो सकेगा।

 

 

चीनी फर्म चाइना गेझोउबा ग्रुप कॉर्प जिसने हमले के बाद दासू प्रोजेक्ट पर काम करना बंद कर दिया था। ग्रुप ने पाकिस्तान सरकार की गुजारिश के बाद भी काम दोबारा नहीं शुरू किया था। कंपनी का कहना है कि तब तक काम नहीं शुरू हो सकेगा जब तक कि मुआवजा पैकेज नहीं मिलता और चीनी नागरिकों को और अधिक सुरक्षा नहीं दी जाती।

You can share this post!

Comments

Leave Comments