logo

  • 28
    11:00 pm
  • 11:00 pm
logo Media 24X7 News
news-details
अन्य राज्य

बंगाल चुनाव: आखिर 4 मिनट में कैसे घट गई करीब 8% वोटिंग? TMC ने चुनाव आयोग से शिकायत की

 

bengal assam voting

1 / 3Bengal Assam Voting

PreviousNext

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 30 सीटों के लिए कड़ी सुरक्षा के बीच शनिवार सुबह सात बजे से ही मतदान जारी है। कुछ जगहों पर हिंसा की भी खबरें आई हैं, वहीं भाजपा और टीएमसी ने एक दूसरे पर वोटिंग को प्रभावित करने का आरोप लगाया है। इन सबके बीच वोटिंग प्रतिशत में अनियमितता लेकर टीएमसी ने चुनाव आयोग से गंभीर शिकायत की है। बंगाल में वोटिंग फीसदी अचानक कम हो जाने को लेकर तृणमूल कांग्रेस ने मेल के जरिए चुनाव आयोग से इसकी शिकायत दर्ज कराई है। 

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, तृणमूल कांग्रेस ने अपनी शिकायत में कहा है कि कांठी दक्षिण (216) और कांठी उत्तर विधानसभा क्षेत्र (213) में 9.13 बजे वोटिंग फीसदी 18.47 और 18.95 फीसदी था। मगर चार मिनट के बाद यानी 9.17 बजे वोटर टर्नआउट कम होकर क्रमश: 10.60 फीसदी और 9.40 फीसदी हो गया।  बता दें कि सुबह नौ बजे तक बंगाल में 7.72 फीसदी मतदान हुआ था।

कुछ जगहों पर हिंसा की खबरों को छोड़ दिया जाए तो अब तक पहले चरण का मतदान शांतिपूर्ण तरीके से चल रहा है। हालांकि, पश्चिम मिदनापुर के भाजपा उम्मीदवार समित दास ने टीएमसी कार्यकर्ताओं पर अशांति फैलाने का आरोप लगाया है। वोट डालने के बाद उन्होंने कहा कि मिदनापुर शहर में मतदान सुचारू रूप से चल रहा है। लेकिन, ग्रामीण इलाकों में कुछ जगहों पर टीएमसी कार्यकर्ता अशांति पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। बूथ नं. 266 और 267 पर 7-8 टीएमसी कार्यकर्ताओं ने मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए बूथ में प्रवेश किया। हमने चुनाव आयोग से शिकायत की है।

बता दें कि पूर्वी मिदनापुर जिले के भगवानपुर विधानसभा क्षेत्र में सतसतमल में फायरिंग से दो सुरक्षाकर्मी घायल। बीजेपी ने इस हमले का आरोप टीएमसी पर लगाया है। कैलाश विजयवर्गीय के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी का प्रतिनिधिमंडल आज दोपहर 2 बजे पश्चिम बंगाल के मुख्य चुनाव आयुक्त से मुलाकात करेगा। वहीं, आज दोपहर 12 बजे लोकसभा में टीएमसी संसदीय दल के नेता सुदीप बंद्योपाध्याय और राज्यसभा सांसद डेरेक ओ ब्रायन के नेतृत्व में 10 सांसदों का दल चुनाव आयोग के अधिकारियों से कोलकाता में मुलाकात करेगा। 

बता दें कि बंगाल में इन सीटों पर 73 लाख से अधिक मतदाता 191 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे। इनमें से अधिकतम सीटें नक्सल प्रभावित जंगल महल क्षेत्र में हैं। पुरुलिया में सभी नौ सीटों, बांकुड़ा में चार, झारग्राम में चार, पश्चिमी मेदिनीपुर में छह सीटों और पूर्व मेदिनीपुर में सात सीटों पर कोविड-19 संबंधी दिशा निर्देशों का पालन करते हुए मतदान कराया जा रहा है। पूर्व मेदिनीपुर भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी का गृहनगर है।

You can share this post!

Comments

Leave Comments