logo

  • 22
    08:10 am
  • 08:10 am
logo Media 24X7 News
news-details
क्राइम

ऑटो ड्राइवर के साथ की हैवानियत, जबलपुर के जल्लादों को पुलिस ने ऐसे सिखाया सबक

जबलपुर को मध्य प्रदेश की सांस्कृतिक राजधानी कहा जाता है. मगर वहां एक मामूली रोड एक्सीडेंट के बाद जो हुआ उसे देखकर शहर में हर कोई खौफजदा है. गुंडागर्दी की सनक में पागल उन लोगों को ये भी होश नहीं रहा कि वो जिसके साथ ये ज़्यादती कर रहे हैं, वो भी एक इंसान है.

मध्य प्रदेश के जबलपुर में कुछ जल्लादों की एक ऐसी करतूत सामने आई है, जिसे देखने के बाद शायद शैतान भी शर्मा जाए. उन गुंडों ने एक मामूली रोड एक्सीडेंट के बाद एक बेकसूर ऑटो ड्राइवर को इतना पीटा कि देखने वालों की रूह कांप गई. ज़ुल्म, ज़्यादती और हैवानियत का वो मंजर ऐसा था कि उसे देख कर लोगों के चेहरे खौफ से भर गए. 

जबलपुर को मध्य प्रदेश की सांस्कृतिक राजधानी कहा जाता है. मगर वहां एक मामूली रोड एक्सीडेंट के बाद जो हुआ उसे देखकर शहर में हर कोई खौफजदा है. गुंडागर्दी की सनक में पागल उन लोगों को ये भी होश नहीं रहा कि वो जिसके साथ ये ज़्यादती कर रहे हैं, वो भी एक इंसान है. उसकी रगों में भी इंसान का ख़ून है. वो भी किसी का बेटा या पिता है. सबसे अहम ये कि उसे भी तकलीफ़ होती है. चोट लगने पर दर्द होता है. लेकिन एक मजलूम ऑटो ड्राइवर पर अपनी मर्दानगी दिखाने के दौरान मानों ये गुंडे, हैवान से भी कहीं आगे जानवर बन गए थे.

इस वाकये की शुरुआत हुई एक मामूली रोड एक्सीडेंट से हुई. स्कूटी से गुज़र रही एक महिला के साथ माल ढुलाई वाले एक ऑटो की हल्की टक्कर हो गई. बस फिर क्या था. महिला ने फोन कर जबलपुर के कुछ छंटे हुए गुंडों को मौके पर बुला लिया. फिर तो गुंडों ने बीच सड़क पर जो कोहराम मचाया, वो सन्न कर देने वाला था. वो तो भला वो वहां से गुज़र रहे कुछ लोगों का जिन्होंने चुपके से गुंडों की इस करतूत को मोबाइल फ़ोन में शूट कर लिया, वरना कानून के लिए भी शायद इन्हें सज़ा दिलाना मुश्किल हो जाता.

सड़क दुर्घटना के बाद गुंडों ने ऑटो चालक को बीच सड़क पर ही घसीट-घसीट कर पीटना शुरू कर दिया. एक गुंडे ने तो सड़क पर बिखरे लोहे के शेड से ऑटोवाले पर वार करना शुरू कर दिया. इस दौरान ऑटो ड्राइवर रोता रहा, गिड़गिड़ता रहा. रहम की भीख मांगता रहा, लेकिन गुंडों ने उसकी एक ना सुनी. मारपीट से तकरीबन बेसुध हो चुके शख्स को इसके बाद हैवानों ने बालों ने पकड़ कर कुछ यूं घसीटा, जैसे कोई जानवर को भी नहीं घसीटता. मगर, इसे गुंडों का ख़ौफ़ कहें या फिर मौके पर मौजूद लोगों की मुर्दादिली कि सबने सबकुछ अपनी आंखों से देखने के बावजूद इन गुंडों को एक बार भी रोकने की कोशिश नहीं की. 

हद तो तब हो गई, जब मारपीट से इन गुंडों का मन भर गया और ऑटो ड्राइवर पूरी तरह बेहोश हो गया. तब ये गुंडे उसे अपनी बाइक पर किसी जानवर की तरह लाद कर ले गए और फिर थाने के पास ही जाकर कुछ ऐसे फेंक दिया, मानों पुलिस से कह रहे हों कि हमने तो जो करना था वो कर दिया, अब हमें रोक सको तो रोक लो. हैवानियत का शिकार बने ऑटो चालक का नाम अजीत विश्वकर्मा है. 

आम तौर पर हर मामले की तरह जबलपुर पुलिस ने इसे भी पहले हल्के में ही लिया. और तो और इतनी ज़्यादती का शिकार होने के बावजूद पुलिस ने घायल ऑटो वाले को ही हवालात में बंद कर दिया. लेकिन जब वीडियो वायरल हुआ तो पुलिस की नींद टूटी. आनन-फानन में पुलिस चार में से दो गुंडों को दबोचने में कामयाब हो गई. और फिर हुआ इनका मध्य प्रदेश स्टाइल में इंसाफ़. पुलिस ने अपने तौर पर इन सिरफिरों को हेकड़ी निकालने की पूरी कोशिश की. नंगे पांव शहर में जुलूस निकाला गया. हाथ में हथकड़ी लगा लगी थी और देर तक डंडों के साथ शहर की सड़कों में गुंडों की परेड होती रही. 

परेड के दौरान गुंड़े नारा लगा रहे थे- अपराध करना पाप है, पुलिस हमारी बाप है. हालांकि चार में से दो शैतान अब भी फरार हैं. दोनों वही हैं, जिसने सबसे ज्यादा गुंडागर्दी की. एक बदमाश का नाम है चंदन और जबकि दूसरे का नाम अभिषेक दुबे उर्फ़ गुड़ी महाराज. अब पुलिस ने फरार अभिषेक और चंदन के नाम पर 10-10 हजार रुपये के इनाम का एलान किया है.

सूत्रों की मानें तो गुड़ी महाराज एक शातिर अपराधी है. उसके खिलाफ क़त्ल समेत दूसरे जुर्म के करीब दो दर्जन आपराधिक मामले दर्ज हैं. वो हाल ही में जेल से छूट कर आया है. लेकिन कहते हैं ना कि चोर चोरी से जाए हेराफेरी से ना जाए. वो जेल से निकलने के बाद भी फिर से बेक़ाबू है और अभी भी क़ानून की धज्जियां उड़ाता घूम रहा है.

You can share this post!

Comments

Leave Comments